Sunday, August 16, 2015

'शोले' के ४० साल : बिग बी ने खोला यादों का पिटारा


१५ अगस्त, १९७५ को रिलीज हुई फिल्म 'शोले' के ४० वर्ष पूर्ण होने पर मीडिया से बात करते हिन्दी सिनेमा के महानायक अमिताभ बच्चन ने इस फिल्म से जुड़ी कई यादों को साझा किया।  उन्होंने कहा कि इसकी शूटिंग करते कभी यह सोचा नहीं था कि यह फिल्म इस तरह का इतिहास रचेगी। जब बिग बी से पूछा गया कि निजी जिंदगी में आपका वीरू कौन है, तो उन्होंने कहा, अभिषेक मेरा वीरू है। वह मेरा दोस्त है। धर्मेंद्र जी से आज भी मेरे अच्छे संबंध है।'' अपनी बेटी श्वेता को भी 'शोले' का हिस्सा बताते हुए उन्होंने बताया कि जिस सीन में मैं जया बच्चन को चाबी देने जाता हूं, उस दौरान श्वेता अपनी मां के गर्भ में थी। इसलिए मैं श्वेता से भी कहता हूं कि तुमने भी 'शोले' में काम किया।
अपने किरदार जय के बाबत अमिताभ बच्चन ने कहा, 'शोले' रिलीज के शुरू में दर्शकों की अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिलने के कारणों पर विचार करते टीम इस निश्कर्ष पर पहुंची कि जय का फिल्म में मर जाना शायद लोगों को अच्छा नहीं लग रहा। इसका कारण यह भी सोचा गया कि मेरी पिछली फिल्म 'दीवार' के अंत में भी मेरी मौत दिखाया गया था और मेरी अगली फिल्म में भी मेरा मरना दर्शकों को खटक रहा है। इसलिए जय का सुखद अंत करने के लिए दुबारा शूट करने निर्णय किया गया। वो शनिवार का दिन था  और हम लोगों को रविवार को शूटिंग के लिए बंगलौर के रामनगर जाना था।  ताकि नये प्रिंट के साथ फिल्म सोमवार को रिलीज कर दी जाये । इसी बीच निर्देशक रमेश सिप्पी ने कहा कि सोमवार तक इंतजार कर लेते हैं। फिर जो सोमवार को हुआ वो अद्भुत था। कांफ्रेंस के दौरान बिग बी ने फिल्म के कलाकारों धमेंद्र का जिक्र करते बताया कि जय के रोल के लिए जब मेरे नाम पर दुविधा बनी हुई थी, तो मैं धरम जी के घर पर जाकर अपने लिए उनसे कहा था कि मैं इस फिल्म से जुडऩा चाहता हूं आप भी मेरी पैरवी कर दीजिए। साथ ही संजीव कुमार, अमजद खान, ए.के. हंगल सहित अन्य दिवंगत कलाकारों को भी याद किया।
गौरतलब हो कि डाकू और दोस्ती की पृष्ठभूमि पर बनी 'शोले' में संजीव कुमार, अमजद खान धर्मेंद्र, हेमा मालिनी, अमिताभ बच्चन, जया बच्चन द्वारा निभाये गये किरदारों की कॉपी आज भी विज्ञापन सहित
अन्य माध्यमों में दिख जाती हैं।  

No comments:

Post a Comment